बहुआयामी गरीबी सूचकांक 2018 |


विश्व के अधिकांश देशो में गरीबी (poverty) को प्रायः धन की कमी के रूप में ही परिभाषित किया जाता है | हालाकि गरीब व्यक्ति आपेक्षाकृत अधिक व्यापक रूप में गरीबी का अनुभव करते है उदाहरण किसी गरीब व्यक्ति को एक ही समय पर ख़राब स्वास्थ या कुपोषण स्वच्छ जल एवं विधुत्त के आभाव जैसी विविध प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है | स्पष्ट है की केवल एक ही घटक जैसे - आय के आधार पर गरीबी की वास्तविक स्थिति को समझना पर्याप्त नही है | गरीबी की बहुआयामी स्थिति को समझने के लिए गरीबों द्वारा अनुभव की जाने वाली विभिन्न प्रतिकूल परिस्थतियों पर ध्यान केन्द्रित करना भी आवश्यक है |

स्मरणीय तथ्य -

* 20 सितम्बर 2018 को संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम ( UNDP ) तथा ऑक्सफ़ोर्ड गरीबी एवं मानक विकास पहल (OPHI : Oxford poverty & Human Development Initiative) द्वारा वैश्विक बहुआयामी गरीबी सूचकांक 2018 (Global Multi-dimensional poverty Index 2018) जारी किया गया |

* उल्लेखनीय है की पहल वैश्विक बहुआयामी गरीबी सूचकांक मानव विकास रिपोर्ट (HDR) के साथ वर्ष 2010 में प्रकाशित हुआ था |

* वर्ष 2018 का यह सूचकांक अंतराष्ट्रिये स्तर पर विश्व के 105 देशों में चरम गरीबी (Acute poverty) की स्थिति का मापन करता है |

* यह 105 देश विश्व की 5.7 बिलियन जनसँख्या (वैश्विक जनसँख्या का 75%) का प्रतिनिधित्व करते हैं |

* इस रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान में विश्व के 105 देशों में 1.34 बिलियन (23%) लोगों बहुआयामी गरीबी के स्थिति में है |

* रिपोर्ट के अनुसार विश्व के सभी विकासशील क्षेत्रों में बहुआयामी गरीबी के मामले देखे गये है | परन्तु विशेष रूप से उप-सहारा अफ्रीका तथा दक्षिण एशिया में यह चरम स्थिति में है |

* बहुआयामी गरीबी की स्थिति में जीवन-यापन कर रहे 83% लोग (लगभग 1.1 बिलियन जनसंख्या) या तो उप-सहारा अफ्रीका में या दक्षिण एशिया में निवासरत है |

* बहुआयामी गरीबी की स्थिति वाले लोगों में लगभग आधी (49.9%) संख्या 0-17 वर्ष आयु के बच्चों की है |

*  विश्व में बहुआयामी गरीबी की स्थिति में जीवन यापन कर रहे लोगों की सर्वाधिक संख्या (लगभग 364 मिलियन) भारत में है |

* यद्यपि पिछले 10 वर्ष में भारत की गरीबी दर (poverty rate) 55% से घट कर 28% तक पहुँच गयी है | फिर भी भारत गरीबों की संख्या के सन्दर्भ में शीर्ष पर है |

* भारत के पश्चात् बहुआयामी गरीबी की स्थिति बाले लोगों की सर्वाधिक संख्या के सन्दर्भ में अन्य प्रमुख देशों का क्रम निम्नवत है |
(2) नाइजीरिया (97 मिलियन) (3) इथियोपिया (86 मिलियन) (4) पाकिस्तान (85 मिलियन) (5) बांग्लादेश (67 मिलियन) |

* वर्ष 2015-16 के भारत के जिला स्तरीय आंकड़ों के अनुसार देश का सबसे गरीब जिला (Poorest District) अलीराजपुर ( मध्य प्रदेश ) है जहाँ 76.5% लोग गरीब है |

1 comment: