जी-20 शिखर सम्मेलन |



दुनिया की 20 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देशों के समूह जी-20 का 13वाँ शिखर सम्मेलन 30 नवम्बर और 1 दिसम्बर 2018 को अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में संपन्न हुआ। बैठक में भाग लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन के इतर 30 नवम्बर को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ पहली त्रिपक्षीय बैठक की।
इस बैठक में तीनों नेताओं ने चीन सागर में नौवहन की आजादी और क्षेत्रीय सुरक्षा की स्थिति पर चर्चा की तीनों नेता इस बात पर सहमत हुए हैं कि आतंकवाद और कट्टरपंथ दुनिया में शांति और स्थिरता के लिए गंभीर खतरा बन गया है।इसके साथ ही भारत और ब्रिक्स के चार अन्य देशों ने पारदर्शी, गैर-भेदभावपूर्ण, खुले एवं समावेशी अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के लिए नियम आधारित बहुपक्षीय व्यापार प्रणाली का आह्वान किया। उन्होंने यह आह्वान बढ़ते संरक्षणवाद के बीच किया।
प्रधानमंत्री मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा, ब्राजील के राष्ट्रपति माइकल तेमेर, सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान और जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल से भी द्विपक्षीय वार्ता की मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस से भी मुलाकात कर वैश्विक स्तर पर जलवायु परिवर्तन से निपटने में भारत की भूमिका पर चर्चा की।