डैन डेविड पुरस्कार 2019 |


डैन डेविड पुरस्कार 2019 |
भारतीय इतिहासकार संजय सुब्रह्मण्यम ने प्रारम्भिक आधुनिक युग के दौरान एशियाई, यूरोपीय एवं उत्तरी व दक्षिणी अमेरिका के लोगों के बीच अंतर-सांस्कृतिक मुठभेड़ों पर अपने काम के लिए प्रतिष्ठित डैन डेविड पुरस्कार 2019 जीता है। उन्होंने मैक्रो इतिहास में अपने काम के लिए इजराइल का प्रतिष्ठित 1 मिलियन अमेरिकी डॉलर का पुरस्कार ''पास्ट टाइम डाइमेंशन' की श्रेणी में जीता। उन्होंने पिछले श्रेणी में पुरस्कार शिकागो विश्वविद्यालय के प्रोफेसर केनेथ पोमर्नाज के साथ साझा किया। एक बार यह पुरस्कार राशि दिये जाने के बाद, सुब्रह्मण्यम पुरस्कार राशि का 10 प्रतिशत स्नातक या स्नातकोत्तर शोधकर्ताओं के लिए छात्रवृत्ति के लिए दान करेंगे।
नोटः डैन डेविड प्राइज पुरस्कार विजेताओं को नई पीढ़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए अपने संबंधित क्षेत्रों में स्नातक या स्नातकोत्तर शोधकर्ताओं के लिए छात्रवृत्ति की ओर अपने पुरस्कार राशि का 10 प्रतिशत दान करने की आवश्यकता होती है।
डैन डेविड पुरस्कार के अन्य प्रमुख विजेताओं में भारतीय लेखक अमिताव घोष, संगीत कंडक्टर जुबिन मेहता, प्रसिद्ध रसायनज्ञ सीएनआर राव और खगोल विज्ञान के प्रोफेसर श्रीनिवास कुलकर्णी शामिल थे।