भारत की राष्ट्रीय डोप परीक्षण प्रयोगशाला 6 महीने के लिए निलंबित।

भारत की राष्ट्रीय डोप परीक्षण प्रयोगशाला 6 महीने के लिए निलंबित-

संबंधित तथ्य-

  • अगस्त, 2019 में विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (WADA) ने भारत की राष्ट्रीय डोप जांच प्रयोगशाला की मान्यता 6 महीने के लिए निलंबित कर दी।
  • वैश्विक एजेंसी को यह फैसला भारतीय प्रयोगशाला को अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप नहीं पाये जाने के कारण लेना पड़ा।
  • निलंबन के तहत भारतीय प्रयोगशाला को तत्काल प्रभाव से परीक्षण प्रक्रियाओं को रोकने का निर्देश दिया गया है।
  • साथ ही सभी नमूनों को सुरक्षित किसी अन्य मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला में ले जाने का निर्देश दिया गया है।
  • वाडा (WADA) द्वारा दिया गया वह फैसला 20 अगस्त, 2019 से प्रभावी है। हालांकि इस फैसले के बावजूद राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) अब भी नमूने एकत्र कर सकती है।
  • लेकिन निलंबन की अवधि के दौरान वह नमूनों की जांच देश से बाहर वाडा से मान्यता प्राप्त किसी अन्य प्रयोगशाला से कराएगी।
  • वाडा की स्थापना अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा 10 नवंबर, 1999 को स्विट्जरलैंड के लुसेन शहर में की गई थी।
  • वर्तमान में वाडा (WADA) का मुख्यालय कनाडा के मांट्रियल शहर है।
  • यह संस्था विश्व भर में वैज्ञानिक शोध, विश्व एंटी डोपिंग कोड और एंटी डोपिंग के विकास की क्षमता में वृद्धि पर निगाह रखती है।
  • यह प्रति वर्ष प्रतिबंधित दवाओं की सूची जारी करती है।
प्रश्न-भारत की राष्ट्रीय डोप परीक्षण प्रयोगशाला की मान्यता किस संस्था द्वारा 6 महीने के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया?
(a) विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी
(b) अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद
(c) अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ
(d) संयुक्त राष्ट्र
उत्तर-(a)