भारत-बहरीन ने 3 समझौतों पर हस्ताक्षर किए, मोदी बहरीन ऑर्डर से सम्मानित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगस्त के अंतिम सप्ताह में बहरीन की यात्रा पर गए, जहाँ द्विपक्षीय वार्ता के बाद समझौतों पर हस्ताक्षर हुए तथा संयुक्त वक्तव्य जारी किया गया. प्रधानमंत्री मोदी प्रिंस खलीफा बिन सलमान अल खलीफा के निमंत्रण पर अधिकारिक रूप से बहरीन की यात्रा पर गए थे. वे बहरीन के यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने बहरीन के प्रिंस खलीफा बिन सलमान अल खलीफा से विभिन्न मुद्दों पर समग्र वार्ता भी की. इसके अलावा दोनों देशों के नेताओं ने मौजूदा द्विपक्षीय सम्बन्धों के प्रति संतोष जाहिर किया और आने वाले समय में सम्बन्धों को नया आयाम देने के लिए रजामंदी जाहिर की, दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय व्यापार की बढ़ती प्रवृत्ति और दो-तरफा निवेशों के लिए मौजूदा क्षमता का उल्लेख किया, व्यापार और निवेश के लिए अनुकूल वातावरण प्रदान करने के लिए अनुकूल माहौल बनाने पर भी प्रतिबद्धता जाहिर की गई.

प्रधानमंत्री मोदी को बहरीन ऑर्डर-
बहरीन के राजा के साथ मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री मोदी को बहरीन के सम्मान द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ द रिनेशंस से नवाजा गया. उन्हें यह सम्मान बहरीन भारत और बहरीन के द्विपक्षीय सम्बन्धों को सुदृढ़ करने के लिए दिया गया है.

भारत और बहरीन के मध्य एमओयू-

  • भारत और बहरीन ने अन्तरिक्ष तकनीक, सौर ऊर्जा और सांस्कृतिक आदान-प्रदान के क्षेत्रों में सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए.
  • समझौते के तहत् भारतीय अन्तरिक्ष अनुसंधान केन्द्र (इसरो) और बहरीन की नेशनल स्पेस साइंस एजेंसी अब अन्तरिक्ष तकनीक के क्षेत्र में सहयोग करेंगी.
  • इसके अतिरिक्त, दोनों देश अन्तर्राष्ट्रीय सौर ऊर्जा गठबंधन में भी एक-दूसरे को सहयोग प्रदान करेंगे.
  • वर्ष 2015 में स्थापित आइएसए पेरिस की यूएन की पर्यावरण परिर्वतन सम्मेलन में किए गए समझौते के तहत् स्थापित संस्था है जो सौर ऊर्जा स्थापना के लिए वृहद स्तर पर काम करती है.
  • भारत और बहरीन के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान के लिए दोनों देशों ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए.