विश्व का पहला तैरता परमाणु संयंत्र
रूस ने 23 अगस्त, 2019 को 'एकेडमिक लोमोनोसोव' (Akademik Lomonosov) नामक विश्व का पहला तैरता परमाणु संयंत्र समुद्र में उतारा.
आर्कटिक महासागर में रूस द्वारा उतारा गया यह परमाणु संयंत्र रूस के मुरमैनस्क बंदरगाह से अपनी यात्रा आरंभ करके अपने गंतव्य स्थल उत्तर-पूर्वी साइबेरिया की ओर निकल पड़ा है. यह संयंत्र साइबेरिया क्षेत्र के एक शहर पेवेक में एक बंद कोयला संयंत्र का स्थान लेकर क्षेत्र की बिजली आवश्यकताओं की पूर्ति में सहायता करेगा.

रूस की एक परमाणु एजेंसी रोसाटॉम के अनुसार, इस प्रकार के संयंत्र से, सदैव बर्फ से ढके रहने वाले स्थानों में ऊर्जा उपलब्धता की सुगमता प्रदान की जा सकती है. इस प्रकार के संयंत्रों के 'उपयोग द्वारा रूस अपनी आर्कटिक क्षेत्र की बड़ी बुनियादी ढांचागत परियोजनाओं, खनिज तेल और हाइड्रोकार्बन की खोज कार्यों के लिए आवश्यक ऊर्जा की पूर्ति करना चाहता है.

Post a Comment

Previous Post Next Post