/ / अबू धाबी में विश्व का प्रथम कृत्रिम बुद्धिमत्ता विश्वविद्यालय।

अबू धाबी में विश्व का प्रथम कृत्रिम बुद्धिमत्ता विश्वविद्यालय।

अबू धाबी में विश्व का प्रथम कृत्रिम बुद्धिमत्ता विश्वविद्यालय 


भूमिका
  • पांच वर्ष पहले. शायद बहुत लोगों ने संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI-Artificial Intelligence) के क्षेत्र में वैश्विक नेतृत्वकर्ता के रूप में कल्पना नहीं की होगी। इस सोच में बदलाव तब आया, जब वर्ष 2017 में यू.ए.ई. कृत्रिम बुद्धिमत्ता के लिए एक स्वतंत्र मंत्रालय का गठन करने वाला विश्व का पहला देश बना। इसी दिशा में एक और कदम बढ़ाते हुए यह देश अबू धाबी में विश्व के पहले स्नातक स्तर के ए.आई. विश्वविद्यालय की स्थापना की घोषणा करके कृत्रिम बुद्धिमता के क्षेत्र में अग्रणी की भूमिका निभा रहा हैं।

वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 16 अक्टूबर, 2019 को संयुक्त अरब अमीरात (यू.ए.ई.) द्वारा विश्व केपहले कृत्रिम बुद्धिमत्ता 
  • विश्वविद्यालय का अबू धाबी में उद्घाटन किया गया।
  • इस विश्वविद्यालय का नाम मोहम्मद बिन जायद यूनिवर्सिटी ऑफ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Mohammed Bin Zayed University of Artificial Inteligence - MBZUAI) है।

मोहम्मद बिन जायद यूनिवर्सिटी ऑफ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस
  • इस विश्वविद्यालय का नामकरण अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के नाम पर किया गया है।
  • गौरतलब है कि यू.ए.ई. के क्राउन प्रिस अपने देश को विश्व के प्रमुख देशों में शुमार करने के लिए ज्ञान और वैज्ञानिक सोच के माध्यम से देश की मानव पूजी के विकास के लिए काफी लंबे समय से वकालत करते रहे हैं।
  • सितंबर, 2020 में अबू धाबी स्थित मसदर (Masdar) शहर परिसर में विश्वविद्यालय का पहला सन्न प्रारंभ होगा।
  • यह विश्व का प्रथम स्नातक स्तरीय अनुसंधान आधारित कृत्रिम बुद्धिमत्ता विश्वविद्यालय है। विश्वविद्यालय के न्यासी बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. सुल्तान अहमद अल जाबेर (SultanAhmed A1Jaber) हैं।
  • विश्वविद्यालय में ए.आई.- मशीन लर्निंग, कंप्यूटर विजन और प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण (Natural language processing) जैसे प्रमुख क्षेत्रों में मास्टर डिग्री और पीएच.डी. (PhD.) स्तर के पाठ्यक्रम संचालित किए जाएंगे।
  • विश्वविद्यालय ने अबू धाबी स्थित इसेप्शन इंस्टीट्यूट ऑफ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Inception Institute of Artificial Intelligence-IIA) के साथ साझेदारी की है. जो कि अकादमिक कार्यक्रम पर सुझाव देगा।