/ / भावनगर : सीएनजी पोर्ट टर्मिनल।

भावनगर : सीएनजी पोर्ट टर्मिनल।

भावनगर : सीएनजी पोर्ट टर्मिनल

वर्तमान परिदृश्य
  • 10 नवंबर, 2019 को गुजरात सरकार ने भावनगर में 1,900 करोड़ रुपये के निवेश से स्थापित होने वाले संम्पीडित प्राकृतिक गैस (Compressed Natural Gas -CNG) टर्मिनल को अपनी मंजूरी दे दी।
  • यह विश्व का पहला सीएनजी पोर्ट टर्मिनल होगा।
  • प्रथम चरण में 1300 करोड़ रुपये का निवेश, जबकि परियोजना के द्वितीय चरण में 600 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा।

भावनगर सीएनजी पोर्ट टर्मिनल
  • भावनगर स्थित सीएनजी पोर्ट टर्मिनल को यूके स्थित फोरसाइट ग्रुप (Foresight group) एवं मुंबई स्थित पदमनाभ मफतलाल ग्रुप, संयुक्त रूप से विकसित करेंगे।
  • गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता वाले गुजरात अवसंरचना विकास बोर्ड (GIDB) द्वारा इस प्रस्ताव को स्वीकृति प्राप्त 
  • इस सीएनजी टर्मिनल हेतु गुजरात मैरीटाइम बोर्ड (GMB) ने जनवरी, 2019 में आयोजित वाइवेंट गुजरात समिट में फोरसाइट ग्रुप के साथ समझौता-ज्ञापन हस्ताक्षरित किया था।
  • सीएनजी टर्मिनल के अलावा एक रो-रो टर्मिनल, लिक्विज टर्मिनल एवं कंटेनर टर्मिनल का भी विकास किया जाएगा।

सीएनजी
  • संपीडित प्राकृतिक गैस (सीएनजी) एक प्राकृतिक गैस है, जिसे
  • 200-250 किग्रा./वर्ग सेमी. दाब पर संपीड़ित किया जाता है. ताकि वाहनों में इसकी भण्डारण क्षमता को बढ़ाया जा सके। सीएनजी हाइड्रोकार्बन का मिश्रण है. जिसमें गैसीय रूप में मुख्यतः मीथेन होती है।

अन्य ईधनों की तुलना में सीएनजी के लाभ
  • संपीडन से हानिकारक गैसों का उत्सर्जन काफी कम हो जाता है। इस कारण पर्यावरण संरक्षण हेतु कई देशों ने इसके प्रयोग को प्रोत्साहित किया है। पेट्रोल और डीजल की तुलना में यह कार्बन डाइऑक्साइड, नाइट्रोजन ऑक्साइड और जैविक गैसें कम उत्सर्जित करती है।
  • पेट्रोल और डीजल गाड़ियों की तुलना में सीएनजी का खर्च भी कम होता है।