पाकिस्तान द्वारा नए टाइफाइड टीके लगाने की शुरुआत

वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 15 नवंबर, 2019 को पाकिस्तान में एक अभियान के माध्यम से नियमित प्रतिरक्षण कार्यक्रम (Routine Immunisation Programme) की शुरुआत की गई
  • यह कार्यक्रम पाकिस्तान के सिंध प्रांत में आयोजित हुआ, इसमें टाइफाइड संयुग्मी टीका (Typhoid Conjugate Vaccine) नामक टीके का इस्तेमाल किया गया।
  • दो सप्ताह के इस अभियान को गावी (GAVI-GlobalAlliance for Vaccines and Immunization) एवं पाकिस्तान सरकार द्वारा संयुक्त रूप से संचालित किया गया।
  • टाइफाइड संयुग्मी टीके को वर्ष 2018 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) द्वारा औपचारिक मंजूरी दी गई।
  • पाकिस्तान इस टीके को अपने नियमित प्रतिरक्षण कार्यक्रम में शामिल करने वाला विश्व का पहला देश बन गया है।

पृष्ठभूमि
  • पाकिस्तान सरकार द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2016 से अब तक 11000 से अधिक लोग टाइफाइड से पीड़ित पाए गए, जिसका सर्वाधिक प्रभाव सिंध प्रांत में था।
  • वर्ष 2017 में पाकिस्तान में स्वास्थ्य संबंधी मामलों में 63 प्रतिशत टाइफाइड से जुड़े थे, जबकि टाइफाइड से होने वाली मृत्यु में 70 प्रतिशत हिस्सा 15 वर्ष से कम आयु के बच्चों का था।
  • पाकिस्तान सरकार द्वारा इस टीका कार्यक्रम की शुरुआत सर्वप्रथम सिंध प्रांत के 'कराची शहर से हुई
  • यह टीका नियमित प्रतिरक्षण कार्यक्रम के माध्यम से वर्ष 2021 से पूरे देश में लगाया जाएगा।

टाइफाइड संयुग्मी टीका
  • टाइफाइड संयुग्मी टीके का निर्माण भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड (Bharat Biotech Internationa1 Limited) द्वारा किया गया है।
  • इस टीके को वयस्कों और 6 महीने आयु तक के शिशुओं को भी लगाया जा सकता है।
  • इस टीके का क्लिनिकल परीक्षण (Clinical Trial) नेपाल में 10,000 बच्चों पर किया गया।
  • परीक्षण में टाइफाइड की रोकथाम के लिए यह टीका 82 प्रतिशत सक्षम पाया गया।
  • इस टीके को भारत में टाइपबार-टीसीवी (Typbar-TCV) के नाम से जाना जाता है।

टाइफाइड
  • यह साल्मोनेला टाइफी (Salmonella Typhi) नामक जीवाणु के कारण होने वाली एक गंभीर बीमारी है. जो दूषित पानी एवं दूषित भोजन के माध्यम से फैलती है।
Previous Post Next Post