फॉर्च्यून इंडिया 500 सूची

वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • सूची में शामिल कंपनियों की रैंकिंग 7 आयामों के अध्ययन एवं मूल्यांकन के आधार पर की जाती है। ये 7 आयाम निम्न है-
1. राजस्व (Revenue)
2. शुद्ध प्रचालन आय (Net Operating Income)
3. लाभ (Profit)
4. परिसंपत्ति (Assets)
5. शुद्ध मूल्य (Net Worth)
6. समता लाभांश (EquityDividend)
7. कर्मचारी मूल्य (Employee Cost)
  • 16 दिसंबर, 2019 को आर्थिक पत्रिका फॉर्च्यून (Fortune) द्वारा भारत की 500 सबसे बड़ी कंपनियों की सूची FORTUNE 'फॉर्च्यून  इंडिया 500 सूची, 2019' जारी की गई।
  • यह सूची वर्ष 2010 से प्रति वर्ष प्रकाशित 12 की जा रही है।

फॉर्च्यून इंडिया 500 सूची, 2019 के महत्वपूर्ण बिदु
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने फॉर्च्यून इंडिया 500 सूची, 2019 में प्रथम स्थान प्राप्त किया।
  • इस क्रम में इसने भारतीय तेल निगम (Indian Oil CorporationIOC) को पीछे छोड़ा, जो कि विगत 9 वर्षों से भारत की सबसे बड़ी कंपनी बनी हुई थी।
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड पहली निजी कंपनी है, जिसे देश की सबसे बड़ी कंपनी होने का गौरव प्राप्त हुआ है।
  • वित्त वर्ष 2019 के दौरान RIL का राजस्व 5.81 लाख करोड़ रुपये रहा, जबकि IOC का राजस्व समान अवधि में 5.36 लाख करोड़ रुपये रहा।
  • RIL को यह उपलब्धि उसकी उपभोक्ता आधारित सेवाओं, संगठित खुदरा व्यापार (Organised Retail Business) तथा दूरसंचार क्षेत्र (Telecom) में हुई वृद्धि के कारण प्राप्त हुई है।
  • RIL ने वित्त वर्ष 2019 में 415 प्रतिशत की राजस्व वृद्धि प्राप्त की।
  • 'Fortune India 500 सूची, 2019 में शामिल कंपनियों के राजस्व में वर्ष 2019 में 9.53 प्रतिशत की वृद्धि, जबकि लाभ में 11.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

फॉर्च्यून इंडिया 500 सूची, 2019 में शीर्ष 10 कंपनियां
रैक
कंपनी नाम
राजस्व (करोड़ में)
1.
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड
5,80,553.00
2.
भारतीय तेल निगम
5,35,793.18
3.
तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम
4,36,057.04
4.
भारतीय स्टेट बैंक
3,30,68736
5.
टाटा मोटर्स
3,03,227.41
6.
भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन
3,02,806.71
7.
राजेश एक्सपोर्ट्स
1,75,830.66
8.
टाटा स्टील
1,59,835.46
9.
कोल इंडिया (CiL)
1,52,27130
10.
टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS)
1,50,774.00

Previous Post Next Post