मात्रक एवं मापन (Unit and Measurement)।


भौतिक राशियाँ (Physical quantities): किसी द्रव्य की सही स्थिति या उचित मात्रात्मक स्थिति को दर्शाने के लिये भौतिकी के जिन पदों का उपयोग किया जाता है, उन्हें 'भौतिक राशियाँ' कहते हैं।
उदाहरणः द्रव्यमान, लंबाई, समय आदि।

भौतिक राशियाँ दो प्रकार की होती हैं-

1. अदिश राशियाँ (Scalar quantities): वे भौतिक राशियाँ, जिन्हें व्यक्त करने के लिये केवल भौतिक परिमाण (Magnitude) की आवश्यकता होती है, 'अदिश राशियाँ' कहलाती हैं। इन राशियों की कोई दिशा नहीं होती है।
उदाहरणः द्रव्यमान, दूरी, चाल, आयतन, घनत्व, कार्य, शक्ति, ऊर्जा आदि।

2. सदिश राशियाँ (Vector quantities): वे भौतिक राशियाँ, जिन्हें व्यक्त करने के लिये परिमाण (Magnitude) के साथ-साथ दिशा (Direction) की भी आवश्यकता होती है, 'सदिश राशियाँ' कहलाती हैं।
उदाहरणः विस्थापन, वेग, त्वरण, संवेग, आवेग, विधुत्त क्षेत्र आदि।
जैसे वेग = 5 मी./से. पूरब की ओर
संवेग = 10 किग्रा. मी./से. दक्षिण की ओर

किसी भौतिक राशि को व्यक्त करने के लिये उसके दो तथ्यों का ज्ञान होना चाहिये: आंकिक मान एवं मात्रक
उदाहरण: यदि हम कहते हैं कि किसी बर्तन में 5 लीटर दूध है तो कहने का तात्पर्य है-
बर्तन में दूध के आयतन का आंकिक मान = 5
दूध का आयतन मापने का मात्रक = लीटर तथा बर्तन में 1 लीटर आयतन के पाँच गुने के बराबर दूध है।

मापन की इकाइयाँ (Units of measurement) -
किसी भौतिक राशि को मापने के मानक को मात्रक (Unit) कहा जाता है।
जब हमें किसी भौतिक राशि (लंबाई, द्रव्यमान, समय आदि) को मापना होता है तो इसके एक निश्चित परिमाण को मानक मानकर इसे एक निश्चित नाम दे देते हैं तथा इसे ही संबंधित राशि का मात्रक कहा जाता है।

मात्रक दो प्रकार के होते हैं-

1. मूल मात्रक (Fundamental unit): भौतिकी (Physics) के अंतर्गत आने वाली सभी भौतिक राशियों को व्यक्त करने के लिये कुछ स्वतंत्र मानकों का प्रयोग किया जाता है, ये मानक अन्य किसी मानक पर निर्भर नहीं करते हैं। अत: इन्हें 'मूल मात्रक' (Fundamental unit) कहते हैं।
उदाहरणः (i) लंबाई का मात्रक मीटर, (ii) द्रव्यमान का मात्रक किलोग्राम, (iii) समय का मात्रक सेकेंड

2. व्युत्पन्न मात्रक (Derived unit): वे मात्रक जो दो या दो से अधिक मूल मात्रकों से प्राप्त होते हैं या मूल मात्रकों की सहायता से निर्मित किये जाते हैं, 'व्युत्पन्न मात्रक' कहलाते हैं। विभिन्न व्युत्पन्न मात्रकों की सूची संलग्न सारणी में प्रदर्शित है।

.