भारत में नवरत्न तथा महारत्न का दर्जा प्राप्त सार्वजनिक क्षेत्र की कम्पनियाँ |


भारत में नवरत्न तथा महारत्न का दर्जा प्राप्त सार्वजनिक क्षेत्र की कम्पनियाँ |

सार्वजनिक क्षेत्र की महारत्न कम्पनियों में एक और नाम अप्रैल 2011 में जुड़ गया है। कोयला क्षेत्र की दिग्गज कम्पनी कोल इंडिया लि. (CIL), जिसने देश में अब तक का सबसे बड़ा सार्वजनिक निर्गम जारी करके कीर्तिमान अक्टूबर, 2010 में रस्थापित किया था, को 'महारत्न' का दर्जा सरकार ने अप्रैल 2011 में प्रदान किया है। इस कम्पनी को 'नवरत्न' कम्पनी का दर्जा इससे पूर्व प्राप्त था। ‘महारत्न' का दर्जा मिलने से देश में महारत्न कम्पनियों की कुल संख्या 5 हो गई है। इनमें कोल इंडिया लि. के अतिरिक्त तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम  (ONGC), भारतीय तेल निगम (IOC), भारतीय इस्पात प्राधिकरण (SAIL) व राष्ट्रीय ताप विद्युत् निगम (NTPC) शामिल हैं। महारत्न का दर्जा प्राप्त कम्पनियों को निवेश के मामले में अपेक्षाकृत अधिक स्वायत्तता प्राप्त होती है। नवरत्न' का दर्जा प्राप्त कम्पनियाँ जहाँ 1000 करोड़ रुपए तक के निवेश प्रस्तावों पर केन्द्र सरकार की पूर्वानुमति के बिना ही निर्णय ले सकती हैं, वहीं 'महारत्न कम्पनियों को 5000 करोड़ रुपए तक के निवेश प्रस्तावों के लिए यह स्वायत्तता प्राप्त है। महारत्न का दर्जा मिलने के पश्चात् कोल इंडिया लि. अब विदेशी परियोजनाओं में निवेश के सम्बन्ध में भी ज्यादा आसानी से निर्णय ले सकेंगी।



एक अन्य महत्वपूर्ण फैसले के तहत् कोयला क्षेत्र की ही एक अन्य कम्पनी निवेली लिग्नाइट, जिसे 'मिनीरत्न' का दर्जा अभी तक प्राप्त था, को 'नवरत्न' कम्पनी का दर्जा सरकार ने अप्रैल 2011 में प्रदान किया हैं। इससे देश में नवरत्न कम्पनियों की कुल संख्या 16 ही रही है |


महारत्न के दर्जे हेतु आवश्यक दशाएं एक दृष्टि में -
  • कम्पनी शेयर बाजार में सूचीबद्ध हो।
  • पिछले तीन वर्षों में कम्पनी का औसत कारोबार 25,000 करोड़ रुपए रहा हो।
  • इस दौरान कम्पनी ने 5000 करोड़ रुपए का औसत शुद्ध लाभ अर्जित किया हो।
  • इन तीन वर्षों में कम्पनी का निवल मूल्य (नेटवर्थ) औसतन 15000 करोड़ रुपए रहा हो।
  • कम्पनी के पास नवरत्न का दर्जा हो |


भारत की 5 महारत्न कम्पनियाँ (अप्रैल 2011 के अन्त तक की स्थिति) |
1. भारतीय इस्पात प्राधिकरण (SAIL)
2. तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ONGC)
3. भारतीय तेल निगम (IOC)
4. राष्ट्रीय ताप विद्युत् निगम (NTPC)
5. कोल इंडिया लि.

16 नवरत्न कम्पनियाँ
1.     भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लि. (BEL)
2.     भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लि. (BHEL)
3.     भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (BPCL)
4.     हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (HPCL)
5.     महानगर टेलीफोन निगम लि. (MTNL)
6.     भारतीय गैस प्राधिकरण लि. (GAIL)
7.     हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लि. (HAL)
8.     पॉवर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इण्डिया लि. (PGCIL)
9.     राष्ट्रीय खनिज विकास निगम (NMDC)
10.   ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लि. (REC)
11.नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी (NALCO)